एक टिकट पर एक फ़्री टिकट या BOGO का आइडिया पिछले साल विक्की कौशल-सारा अली खान अभिनीत फिल्म ज़रा हटके ज़रा बचके से शुरू हुआ था । फिल्म ने 5.49 करोड़ रुपये की कमाई की, जो उम्मीद से कहीं ज़्यादा थी । यह ऑफर तीन और दिनों तक जारी रहा और उसके बाद भी दर्शक फिल्म देखने आए । इस मॉडल को सफल माना गया और इसे उसी वितरक द्वारा रिलीज़ की गई कई अन्य फिल्मों के लिए दोहराया गया जैसे घूमर, ड्रीम गर्ल 2, द वैक्सीन वॉर, तेरी बातों में उलझा जिया, सजनी शिंदे का वायरल वीडियो, मेरी क्रिसमस आदि। कुछ अन्य वितरकों ने भी अपनी कुछ फिल्मों जैसे यारियां 2, मिशन रानीगंज, दोनों आदि के लिए ऐसा करने की कोशिश की ।

EXPLOSIVE: तरण आदर्श ने एक टिकट पर एक फ़्री टिकट के ऑफर को बताया गलत ; फ़िल्ममेकर्स से पूछा- “क्या आपने फ़्री में फिल्म बनाई है जो आप उसको फ्री में दिखा रहे हो ?” ; राजकुमार राव स्टारर श्रीकांत को सराहा

एक टिकट पर एक फ़्री टिकट का ऑफर सही नहीं

भले ही ये एक टिकट पर एक फ़्री टिकट का ऑफर कुछ फ़िल्मों के लिए काम कर गया हो लेकिन लंबे समय तक या कहें कि हर फ़िल्म के लिए काम नहीं कर सकता । इसलिए ही फ़िल्म इंडस्ट्री के कुछ लोग और एग्जीबीटर्स ने इस बाय-वन-गेट-वन (BOGO) ऑफर को बंद करने की अपील की है । क्योंकि इन्हें लगता है कि, दर्शक इसके आदी हो जाएँगे और बाय-वन-गेट-वन (BOGO) ऑफर के लागू होने का इंतज़ार करेंगे तभी फ़िल्म देखने थिएटर में आएंगे । इस प्रक्रिया में, वे फिल्म देखना छोड़ सकते हैं और इसलिए, निर्माता संभावित दर्शकों को खो देंगे ।

हालाँकि, यह ऑफर बार-बार लागू होता रहता है । बॉलीवुड हंगामा ने व्यापार जगत के दिग्गज तरण आदर्श से BOGO योजना के बारे में पूछा और उन्होंने इसे सरासर ग़लत बताया और फ़िल्म बिज़नेस के लिए नुक़सानदायक बताया ।

तरण आदर्श ने कहा, “मैं इसके सख्त खिलाफ हूं । क्या आपने फिल्म फ्री में बनाई है जो आप उसको फ्री में दिखा रहे हो ? आपने एक्टर को फिल्म में लाने के लिए बहुत पैसे दिए हैं । एक्टर एक पैसा भी कम नहीं करने वाला है । फिर आप कुछ टिकटें मुफ्त में क्यों दे रहे हैं ? जब कलेक्शन आएगा, तो एक्टर को फायदा होगा क्योंकि वह डींग मारेगा कि उसकी फिल्म बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रही है । हमने पहले कभी BOGO जैसे ऑफर नहीं देखे । मैं बदलाव के लिए तैयार हूं लेकिन यह हेल्दी प्रैक्टिस नहीं है ।

EXPLOSIVE-Taran-Adarsh-ATTACKS-the-Buy-One-Get-One-Offer-scheme-I-am-strictly-against-it.-Kya-aapne-film-free-mein-banayi-hai-ki-aap-usko-free-mein-dikha-rahe-ho-1

उन्होंने सुझाव दिया, “हर टिकट पर एक टिकट मुफ़्त देने के बजाय, थिएटर टिकट दरें क्यों नहीं घटाते ? इससे BOGO की तुलना में ज़्यादा दर्शक आते हैं, जैसा कि सिनेमा प्रेमी दिवस से साबित हुआ है ।

तरण आदर्श ने राजकुमार राव अभिनीत श्रीकांत के निर्माताओं की भी BOGO के जाल में न फंसने के लिए प्रशंसा की, “वे इसे लागू कर सकते थे और किसी को भी इस पर आपत्ति नहीं होती । और यह बहुत बड़ी बात है कि यह 50 करोड़ रुपये के आंकड़े (बिना प्रस्ताव के) की ओर बढ़ रही है । और यह अभी भी दर्शकों को आकर्षित कर रही है; सिनेमा प्रेमी दिवस पर इसके शो तेज़ी से भर रहे थे ।