34 वर्षीय बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत, जिसने हिंदी सिनेमा को कई बेहतरीन फ़िल्में दी, ने 14 जून को फ़ांसी लगाकर आत्महत्या करके पूरे देश को हैरान कर दिया । बिना किसी गॉडफ़ादर के अपने दम पर मनोरंजन जगत में अपनी पहचान बनाने वाले सुशांत सिंह राजपूत का यूं अचानक चले जाना, वो भी इस तरह, हर किसी को परेशान कर रहा है । कुछ लोगों ने सुशांत सिंह राजपूत के निधन की वजह फ़िल्म इंडस्ट्री में मौजूद राजनीति व नेपोटिज्म को ठहराया है । इसी के चलते सुशांत के आत्महत्या मामले में फिल्म इंडस्ट्री कुछ बड़े लोगों के खिलाफ बिहार कोर्ट में केस दर्ज कराया गया था । और अब इस मामले में लेटेस्ट अपडेट ये है कि बिहार की सीजेएम कोर्ट ने सुशांत आत्‍महत्‍या मामले में दर्ज दो अलग-अलग परिवाद बुधवार को खारिज कर दिए गए ।

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मामले में सलमान खान, करण जौहर समेत सभी 8 फ़िल्ममेकर्स को मिली राहत, बिहार कोर्ट ने केस लेने से किया इंकार

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मामले में बिहार कोर्ट ने याचिका खारिज की

कोर्ट ने इस विषय को अपने क्षेत्राधिकार से बाहर बताते हुए इसे स्वीकार करने से इनकार कर दिया है । सीजेएम कोर्ट के फैसले से आरोपी फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली, महेश भट्ट, मुकेश भट्ट, आदित्य चोपड़ा, करण जौहर, साजिद नाडियावाल, एकता कपूर, भूषण कपूर, दिनेश विजयन, अभिनेता सलमान खान, रिया चक्रवर्ती व कृति सनन को राहत मिली है । मामले में सुनवाई के दौरान 3 जुलाई को सलमान खान के अधिवक्ता एनके अग्रवाल ने कोर्ट में हाजिर होकर वकालतनामा दाखिल किया था । हालांकि, याचिकाकर्ता ने कहा है कि वह इस मामले में कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर करेंगे ।

यह भी पढ़ें : सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या मामले में करण जौहर, भंसाली, एकता कपूर और सलमान खान समेत इन 8 लोगों के खिलाफ़ केस दर्ज

बता दें कि 17 जून को ऐडवोकेट सुधीर ओझा ने बॉलीवुड के फ़िल्ममेकर करण जौहर, सलमान खान, एकता कपूर, संजय लीला भंसाली, साजिद नाडियावाला, आदित्य चोपड़ा, भूषण कुमार और दिनेश विजान के खिलाफ बिहार की मुजफ्फरपुर कोर्ट में आईपीसी की धारा 306, 109, 504 और 506 के तहत केस दर्ज कराया ।

यह भी पढ़ें : सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड के बाद से मिल रही आलोचनाओं ने करण जौहर को तोड़ कर रख दिया है, करीबी दोस्त ने बताया हाल

इन पर आरोप लगाया गया कि साजिश के तहत ये लोग सुशांत की फिल्में रिलीज नहीं होने दे रहे थे । इनके कारण फिल्म से जुड़े कार्यक्रमों में सुशांत को आमंत्रित नहीं किया जाता था । ओझा द्वारा दायर किए गए शिकायत पत्र में इन सभी पर आत्महत्या करने के लिए प्रेरित करने का आरोप लगा कर सीजेएम कोर्ट में मामला दर्ज करवाया गया था ।