सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड ने हर किसी को सदमे में डाल दिया है । हालांकि सुशांत सुसाइड केस को मुंबई पुलिस, बिहार पुलिस, प्रवर्तन निदेशालय और सीबीआई जांच कर रही है । लेकिन वहीं सोशल मीडिया पर सुशांत के निधन के बाद से ही बॉलिवुड में नेपोटिज्म और इनसाइडर-आउटसाइडर को लेकर बहस छिड़ गई है । एक वर्ग कह रहा है कि सुशांत सिंह राजपूत नेपोटिज्म का शिकार हो गए । लेकिन इस बात में कितनी सच्चाई है ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा । बहरहाल फ़िल्ममेकर संजय गुप्ता ने भी सुशांत मामले पर अपनी राय रखी है ।

सुशांत सिंह राजपूत एक बैंकेबल स्टार था जिसके पास कई फ़िल्मों के ऑफ़र थे लेकिन वह उन्हें कर नहीं रहा था, संजय गुप्ता ने बताया

संजय गुप्ता ने सुशांत सिंह राजपूत को बैंकेबल स्टार कहा

कई बेहतरीन फ़िल्में देने वाले निर्देशक संजय गुप्ता ने हाल ही में एक अखबार के साथ हुई बातचीत में कहा कि वो भी एक आउटसाइर हैं लेकिन फ़िल्म इंडस्ट्री में उनका खुले दिल से स्वागत हुआ । उन्होंने बताया कि वह इंडस्ट्री से नहीं है लेकिन फ़िर भी उन्हें यह कभी महसूस नहीं हुआ । लोगों ने इनसाइडर-आउटसाइडर का इश्यू बना दिया है ।

संजय गुप्ता ने आगे कहा कि यहां हर कोई हुनरमंद इंसान का स्वागत करता है । ऐसा बहुत कम होता है कि लोग गैंग बनाकर किसी को बर्बाद करते हो या फिर कहते हो कि इसका काम छीन लेंगे । ऐसा कोई नहीं करता है । भगवान सुशांत की आत्मा को शांति दें लेकिन उसे फिल्मों के ऑफर्स मिल रहे थे । वो उन्हें कर नहीं रहा था और यह उसकी च्वाइस थी ।

सुशांत अपनी फिल्में अपने नाम पर बेच सकता था

मुंबई सागा के डायरेक्ट संजय गुप्ता ने आगे कहा कि, सुशांत सिंह राजपूत एक स्टार था । सुशांत अपनी फिल्में अपने नाम पर बेच सकता था । वो एक बैंकेबल स्टार था और इन दिनों उसके साथ जो हो रहा है, वो बहुत ही दुखद है । उन्हें लगता है कि उसे और उसके परिवार को अकेला छोड़ देना चाहिए । अंत में संजय गुप्ता ने कहा कि, हर रोज इस विषय पर नए-नए लोग आकर बात कर रहे हैं । जब सुशांत जिंदा था तब ये लोग कहां थे ? उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं लगता है कि जो लोग सुशांत की मौत पर बात कर रहे हैं, वो उससे प्यार करते हैं । हर कोई बस अपना मतलब सिद्ध करने में लगा हुआ है ।

यह भी पढ़ें : प्रोपर्टी या बैंक बैलेंस के नाम पर रिया चक्रवर्ती ने शेयर की सुशांत सिंह राजपूत की वो एकमात्र निशानी जो उनके पास है

गौरतलब है कि सुशांत ने 14 जून को अपने घर में फ़ांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी । सुसाइड नोट न मिलने की वजह से सुशांत की मौत का राज गहराता जा रहा है । इस केस में हर दिन एक नया खुलासा इस केस को एक नया मोड़ दे रहा है ।