एक मॉडल के रूप में सफल करियर और बहुत सारे थिएटर करने के बाद, ऋषभ साहनी वेब सीरीज़, द एम्पायर के साथ ऑन-स्क्रीन डेब्यू कर लिया है। मिताक्षरा कुमार और निखिल आडवाणी द्वारा निर्देशित इस शो में ऋषभ साहनी एक महत्वपूर्ण किरदार निभाते नजर आ रहे हैं । ऋषभ साहनी द एम्पायर में शबाना आज़मी के साथ स्क्रीन स्पेस शेयर कर बहुत उत्साहित हैं ।

वेब सीरीज़ द एम्पायर में महमूद की भूमिका निभाने वाले ऋषभ साहनी के लिए शबाना आज़मी के साथ काम करना गर्व की बात

शबाना मैम के साथ काम करना बेहद खास रहा - ऋषभ साहनी

ऋषभ, जो अनुभवी अभिनेत्री शबाना आज़मी के साथ स्क्रीन स्पेस शेयर करते हुए दिखाई दे रहे हैं, कहते हैं, “मैं महमूद की भूमिका निभा रहा हूँ । वह बाबर का भाई है, जो समरकंद नामक शहर के सिंहासन को पुनः प्राप्त करने में उसकी मदद करता है । उसकी मदद करने का कारण यह है कि महमूद की प्रेमिका को उसके पिता अबू बख्श ने समरकंद में बंदी बना लिया है।”

शबाना आज़मी के साथ काम करने के अनुभव को साझा करते हुए, ऋषभ कहते हैं, “शबाना मैम के साथ काम करना बहुत खास था और मेरे लिए यह बेहद गर्व की बात है कि मैं उनके साथ काम कर सका । मेरे अब तक के पहले शो में, मैंने उनके साथ एक सीन किया है और यह मेरी सफलता में चार चाँद लगाने से भी कहीं अधिक है। कैमरा के सामने आने से पहले तक मैं बहुत नर्वस था। लेकिन जैसे ही हमने शूटिंग शुरू की, घबराहट गायब हो गई। शबाना मैम बहुत विनम्र और जमीन से जुड़ी हुई हैं। वे शूटिंग के दौरान हमारे साथ बातचीत भी करती थीं, जिससे हम खुद को सहज महसूस कर पाते थे।”

जिस प्रकार, अभिनेता हर समय फिट रहना पसंद करते हैं, ठीक इसी प्रकार यह किरदार भी कुछ विशेष तैयारियों की मांग लिए हुए है। ऋषभ, जिन्होंने इस शो के लिए उर्दू का प्रशिक्षण लिया, कहते हैं, “दीवार पर चढ़ने और कूदने के कुछ सीन थे, जिसके लिए मैंने वास्तव में कड़ी मेहनत की है। प्रशिक्षण के बाद मेरे हाथों और पैरों में छाले पड़ गए थे, लेकिन इस अनुभव को जीना भी काफी मजेदार था।”

वे आगे कहते हैं, “चूँकि मैं कुछ समय से थिएटर कर रहा हूँ और हम घर पर हिंदी बोलते हैं, मैं हिंदी के साथ बेहद सहज महसूस करता हूँ। लेकिन जब उर्दू की बात आई, तो मुझे उचित शब्द और उच्चारण सीखने के लिए प्रशिक्षण लेना पड़ा, क्योंकि स्वाभाविक रूप से मैं उर्दू से अपरिचित हूँ। जब से मुझे यह किरदार ऑफर किया गया है, मैं लगातार इस पर शोध कर रहा हूँ। इस प्रकार मैंने उर्दू सीखना और इसके शब्दों का उच्चारण करना शुरू किया। एक शब्द, जिसका उच्चारण करने में मुझे कठिनाई हुई, वह था 'तख्त'। यह सुनने में आसान लगता है, लेकिन इसका उच्चारण कठिन है।”

ऋषभ ने मुगलों के जीवन से अभ्यस्त होने और अपने किरदार की बहुत-सारी ऐतिहासिक सामग्रियों का उल्लेख किया। वे कहते हैं, “मैंने ऐतिहासिक चीजें पढ़ीं। मुझे गेम ऑफ थ्रोन्स का बहुत शौक है। मैंने बहुत सारे ग्रीक पौराणिक शोज़ भी देखे हैं। इस शो की तैयारी के लिए मैंने पुर्तगाल गाजी देखी। यह एक शानदार शो है, जिसने वास्तव में मेरी तैयारी में काफी मदद की है। मैंने एलेक्स रदरफोर्ड द्वारा लिखित एम्पायर ऑफ द मुगल भी पढ़ा, जिस पर यह सीरीज़ आधारित है। मैंने जोधा अकबर, पद्मावत, बाजीराव मस्तानी जैसी फिल्में भी देखीं, जो भारत में मुगलों पर आधारित हैं ताकि बारीकियों को समझा जा सके।"