कोरोना संकटकाल में सुपरहीरो बनकर लगातार लोगों की मदद कर रहे सोनू सूद की दरियादिली का सिलसिला अभी तक कायम है । महामारी के दौरान लॉकडाउन में दूसरे शहरों में फंसे हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूरों को अपने खर्चे पर उन्हें उनके घर पहुंचाने से लेकर बेरोजगार हुए प्रवासियों को घर और रोजगार दिलाने वाले सोनू सूद कई तरह से जरूरतमंद लोगों की मदद करने में जुटे हुए हैं । और अब सोनू सूद गरीब बच्चों के लिए स्कॉलरशिप निकालेंगे ताकि वे अपनी मनपसंद पढ़ाई कर सकें ।

सोनू सूद लेकर आए गरीब होनहार बच्चों के लिए स्कॉलरशिप प्रोग्राम, इन सभी कोर्सेज के लिए दी जाएगी  स्कॉलरशिप

सोनू सूद ने अपनी मां के नाम स्कॉलरशिप प्रोग्राम शुरू किया

अपने नेक काम से सभी का दिल जीतने वाले सोनू गरीब बच्चों के लिए एक स्कॉलरशिप प्रोग्राम लेकर आए हैं । इस स्कॉलरशिप प्रोग्राम को सोनू ने अपनी दिवंगत मां के नाम पर शूरू किया है । यह प्रोग्राम होनहार गरीब बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए वजीफा देगा ।

इस बारें में सोनू ने बताया कि उन्होंने देखा कि इस संकट की घड़ी में गरीब बच्चे अपनी पढ़ाई का खर्च देने में असमर्थ हैं । कुछ गरीब बच्चों के पास ऑनलाइन क्लासेज में शामिल होने के लिए फोन, टैबलेट या लैपटॉप तक नहीं हैं जबकि कुछ के पास फीस ही जमा करने के लिए पैसे नहीं हैं । इसलिए उन्होंने देशभर की कुछ यूनिवर्टीज से समझौता किया है ताकि वह उनकी मां प्रोफेसर सरोज सूद के नाम पर इन गरीब बच्चों को स्कॉलरशिप दें ।

स्कॉलरशिप के लिए रखी कंडीशन

सोनू ने स्कॉलरशिप के बारे में आगे बताया कि यह वजीफा मेडिसिन, इंजिनियरिंग, आर्टिफिशल इंटेलिजेंस, रोबॉटिक्स ऐंड ऑटोमेशन, साइबर सिक्यॉरिटी, डेटा साइंस, फैशन, जर्नलिजम और बिजनस स्टडीज जैसे पॉप्युलर कोर्सेज के लिए दिया जाएगा । उन्होंने कहा कि ऐसे स्टूडेंट्स जिनकी फैमिली इनकम सालाना 2 लाख रुपये से कम है, वे इस स्कॉलरशिप के लिए अप्लाई कर सकते हैं । इसके लिए केवल एक ही कंडिशन है कि उनका अकैडेमिक रेकॉर्ड अच्छा होना चाहिए । उनका पूरा खर्च जैसे कोर्स की फीस, हॉस्टल फीस और खाने का खर्च सबकुछ उनकी तरफ से उठाया जाएगा ।

बता दें कि इससे पहले सोनू प्रवासी रोजगार एप के माध्यम से प्रवासी मजदूरों को रोजगार दिलाने का काम शुरू किया ।