कोरोना वायरस के संक्रमण को फ़ैलने से बचाने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया है । लॉकडाउन के चलते एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में भी काम पूरी तरह से बंद है । ऐसे में फिल्म फेडरेशन से जुड़े छोटे-मोटे वर्कर्स और मजदूरों के घरों में चूल्हा तक नहीं जल रहा और वे आर्थिक रूप से पीड़ित नज़र आ रहे हैं । लेकिन महामारी बने कोरोना वायरस की इस मुश्किल घड़ी में, एक बार फ़िर सलमान खान मसीहा बनकर सामने आए हैं । सलमान खान ने फिल्म फेडरेशन से जुड़े 25000 दिहाड़ी मजदूरों को आर्थिक रुप से मदद करने का फैसला किया है । सलमान खान द्दारा मदद मिलने पर फ़ेडरेशन ऑफ़ वेस्टर्न इंडियन सिने एम्प्लॉइज (FWICE) ने खुशी जताई है ।

सलमान खान करेंगे फ़िल्म फेडरेशन से जुड़े 25 हजार दिहाड़ी मजदूरों की आर्थिक मदद, प्राउड ‘पापा’ सलीम खान ने कहा,‘हमारा पैसा किसी के काम आना चाहिए…”

सलमान खान एकमात्र अभिनेता हैं जो मदद के लिए आगे आए

कोरोनावायरस के कारण पैदा हुई लॉकडाउन की इस मुश्किल घड़ी में सबसे ज्यादा असर दिहाड़ी मजदूरों पर पड़ रहा है क्योंकि लॉकडाउन की स्थिती में उनके घर चूल्हा तक नहीं जल रहा है । FWICE के जनरल सेक्रेटरी अशोक दुबे ने कहा कि फ़ेडरेशन ऑफ़ वेस्टर्न इंडियन सिने एम्प्लॉइज (FWICE) के साथ यूं तो विभिन्न विधाओं से संबंधित पांच लाख वर्कर जुड़े हुए हैं लेकिन 25 हजार ऐसे दिहाड़ी मजदूर हैं जिन्हें वाकई आर्थिक मदद की जरूरत है । इस बारें में आगे बात करते हुए अशोक दुबे ने कहा कि, “सलमान ने हमसे उन 25000 दिहाड़ी मज़दूरों के बैंक खातों को लेकर जानकारी मांगी, जो हमने उन्हें भेज दी है । अब सलमान इन 25 हजार दिहाड़ी मजदूरों के बैंक अकाउंट में डायरेक्ट पैसा ट्रांसफ़र करेंगे ।”

FWICE के प्रेसिडेंट बी एन तिवारी ने भी बताया कि सलमान अपने NGO बीइंग ह्यूमन के जरिए उनके आर्गेनाईजेशन तक पहुंचे और मजदूरों के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाया । तिवारी ने कहा कि, “इस विकट परिस्थिती में सलमान फ़िल्म इंडस्ट्री के एकमात्र ऐसे अभिनेता हैं जिन्होंने हमारे वर्कर्स के लिए आर्थिक मदद का हाथ आगे बढ़ाया है । दुख की बात है कि, फ़िल्म इंडस्ट्री का कोई और फ़िल्ममेकर, निर्माता या अभिनेता हमारी मदद के लिए आगे नहीं आया ।”

सलमान और उनके पिता सलीम खान अक्सर मदद करते हैं

वहीं FWICE के जनरल सेक्रेटरी अशोक दुबे ने कहा कि हमने उन्हें बताया था कि दिहाड़ी पर काम करने वाले इन लोगों को हर महीने 15 हजार रुपया दिया जाता है और सलमान ने 25 हजार लोगों की अकाउंट डिटेल्स मांगी थी और वे इन सभी को स्पॉन्सर करना चाहते हैं । पंडित ने ये भी बताया था कि सलमान उनकी मेडिकल सुविधाओं के लिए हर महीने 5 लाख रुपए भी खर्च करेंगे । उन्होंने कहा कि सलमान और उनके पिता सलीम खान हमेशा ही मदद करते आए हैं ।

FWICE के जनरल सेक्रेटरी अशोक दुबे ने कहा कि, “सलमान के चैरिटी संगठन बीइंग ह्यूमन, फेडरेशन के मजदूरों के स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों के मद्देनजर काफी मदद करते रहे हैं और पिछले दो साल में संगठन की तरफ से फेडरेशन को तकरीबन 1.5 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता प्राप्त हुई है ।”

यह भी पढ़ें : EXCLUSIVE: बॉलीवुड के ‘सुल्तान’ सलमान खान ने लिया फिल्म फेडरेशन से जुड़े वर्कर्स और दिहाड़ी मजदूरों की हर जरूरत पूरी करने का जिम्मा और वो भी अकेले

इस बारें में सलमान के पिता सलीम खान ने कहा, वो सलमान की मदद को लेकर कमेंट नहीं करना चाहते हैं क्योंकि उन्हें अभी इस बारे में ज्यादा पता नहीं है । लेकिन उनके परिवार का एक उसूल है- ‘हमारा पैसा जहां जाए, वहां दिखना चाहिए और किसी के काम आना चाहिए ।’ सलीम खान ने आगे कहा कि, उनका परिवार अपनी बिल्डिंग में रहने वाले लोगों के लिए और सलमान के सिक्योरिटी गार्ड्स के लिए भी खाने का इंतजाम कर रहे हैं । हम सभी को अपने स्टाफ की रखवाली करनी चाहिए ।