गर्ल्स विल बी गर्ल्स एक महिला प्रधान ड्रामा है जिसे नवोदित शुचि तलाती द्वारा लिखा और निर्देशित किया जाएगा । फिल्म एक जटिल माँ बेटी के रिश्ते की खोज करती है, और उनकी बढ़ती और घटती उम्र से संबंधित कहानी है । ऋचा चड्ढा और अली फजल ने मिलकर गर्ल्स विल बी गर्ल्स का निर्माण किया है । 'ऐड ऑक्स सिनेमाज डू मोंडे ग्रांट' का उद्देश्य विदेशी फिल्म निर्माताओं का समर्थन करना है, जो अनूठी कहानियों को बताना चाहते हैं और इसका प्रबंधन सीएनसी और इंस्टिट्यूट फ्रैंकैस द्वारा किया जाता है। पुश बटन स्टूडियो के अलावा, 'गर्ल्स विल बी गर्ल्स' का सह-निर्माण 'क्रॉलिंग एंजेल फिल्म्स' के संजय गुलाटी और पूजा चौहान और 'डोल्से वीटा फिल्म्स' की क्लेयर चासग्ने द्वारा किया जाएगा।

ऋचा चड्ढा और अली फजल की गर्ल्स विल बी गर्ल्स को फ्रांस के प्रतिष्ठित ऐड ऑक्स सिनेमास डू मोंडे द्वारा फंड से सम्मानित किया गया

ऋचा चड्ढा और अली फजल की गर्ल्स विल बी गर्ल्स

सम्मान के बारे में बोलते हुए, निर्देशक, शुचि तलाती ने कहा, "जब मुझे हमारे फ्रांसीसी निर्माता क्लेयर चेसग्ने से खबर मिली, तो मैंने बस अपने फोन की स्क्रीन को देखते रह गयी। गर्ल्स विल बी गर्ल्स के लिए ऐड सिक्स सिनेमास डू मोंडे प्राप्त करना वर्षों से मेरा एक लक्ष्य था जब से मैंने स्क्रिप्ट लिखना शुरू किया था। लेकिन मैंने हमेशा अपने आप से कहा- यहाँ बहुत प्रतिस्पर्धी है और हम शायद इसे प्राप्त नहीं कर पाएंगे। तो वास्तव में इसे प्राप्त करना थोड़ा पागलपन जैसा था। मैंने आंसू बहाए और अपनी टीम को जश्न मनाने के लिए बुलाया। अतीत में कई अविश्वसनीय फिल्मों ने इसे जीता है इसलिए यह एक बड़ी मान्यता है। और निश्चित रूप से अनुदान राशि हमारे लिए बहुत बड़ा प्रोत्साहन है ताकि हम बिना किसी रचनात्मक समझौते के फिल्म को अपनी इच्छानुसार बना सकें!"

पुशिंग बटन स्टूडियोज के सह-निर्माता और सह-संस्थापक अली फज़ल ने अपने विचारों को जोड़ते हुए कहा, "ऋचा और मैं रोमांचित हैं कि नए निर्माता होने के नाते, हम अपने पहले प्रोडक्शन के लिए सही विकल्प बना रहे हैं। हम आभारी हैं हमारे फ्रांसीसी सह-निर्माता, डोल्से वीटा फिल्म्स के क्लेयर और शुचि ने हमें इस प्रतिष्ठित अनुदान को हासिल करने में उनके प्रयासों के लिए। यह हमारे पहले प्रोडक्शन को इंडो-फ्रेंच बनाता है ।"

फ्रांस में डोल्से वीटा फिल्मों के मालिक क्लेयर चेसग्ने ने कहा, "मुझे इस बात की बहुत खुशी है कि फिल्म को एड ऑक्स सिनेमास डू मोंडे दिया गया है, जो एक बहुत ही प्रतिस्पर्धी फंड है। मेरे लिए यह 3 साल से अधिक समय तक फिल्म के विकास में मेरी भागीदारी के लिए एक इनाम भी है। आर्थिक स्तर पर, यह अनुदान फिल्म को अंतरराष्ट्रीय बाजार में विशेष रूप से फ्रांस और यूरोप में अधिक पहुंच प्रदान करने की अनुमति देगा ।

फंड उत्पादन बजट का 25% है। फंड की ऊपरी सीमा 2,50,000 यूरो तक है। स्क्रिप्ट को इस साल के जेरूसलम स्क्रिप्ट लैब और बर्लिनले स्क्रिप्ट स्टेशन पर भी चुना गया था। इसे हाल ही में समाप्त हुए बाज़ार, गोथम वीक में भी प्रस्तुत किया गया था जो इस सितंबर में न्यूयॉर्क में हुआ था ।