तीन बार नेशनल अवॉर्ड जीत चुकी अभिनेत्री सुरेखा सीकरी का आज 75 साल की उम्र में निधन हो गया है । सुरेखा सीकरी लंबे समय से बीमार चल रही थीं और आज शुक्रवार (16 जुलाई) सुबह दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया । उन्हें पहली बार साल 2018 में ब्रेन स्ट्रोक में आया, जिसके बाद उन्हें पैरालिसिस अटैक पड़ा था । 2020 में सुरेखा सीकरी को दूसरी बार ब्रेन स्ट्रोक आया था और तभी से उनकी तबीयत खराब चल रही थी ।

3 बार नेशनल अवॉर्ड जीत चुकी बालिका वधू फ़ेम दादी सा उर्फ़ सुरेखा सीकरी का दिल का दौरा पड़ने से निधन

सुरेखा सीकरी का निधन

लोकप्रिय टीवी सीरियल बालिका वधू में दादी सा बनकर और हिट फ़िल्म बधाई हो में दादी का किरदार निभाने वाली सुरेखा सीकरी ने निधन से बॉलीवुड और टीवी गलियारों में शोक की लहर है । सुरेखा सीकरी को उनकी दमदार अदाकारी के लिए जाना जाता था । सुरेखा का अलविदा कह जाना फिल्म-टीवी इंडस्ट्री के लिए बड़ा नुकसान है ।

अभिनेत्री के निधन के बाद उनके मैनेजर ने बयान जारी करते हुए बताया, “हार्ट अटैक आने से आज सुबह सुरेखा सिकरी का 75 साल की उम्र में निधन हो गया । दूसरी बार ब्रेन स्ट्रोक की वजह से वो बीमार चल रही थीं । अपने आखिरी वक्त में सुरेखा सीकरी अपने परिवार के साथ थीं । उनका परिवार दुख की इस घड़ी में अपने लिए प्राइवेसी चाहता है. ओम साईं राम ।”

सुरेखा सीकरी को तीन बार नेशनल अवॉर्ड भी मिल चुका है । उन्हें फिल्म तमस 1988, Mammo (1995) और बधाई हो (2018) के लिए बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का नेशनल अवॉर्ड दिया गया था । आखिरी बार सुरेखा सीकरी फिल्म नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई फिल्म घोस्ट स्टोरीज में नज़र आईं थीं ।

सुरेखा ने किस्सा कुर्सी का से 1978 में डेब्यू किया था । इसके बाद वो तमस (1986), लिटिल बुद्धा (1993), Mammo (1994), नसीम Naseem (1995), सरफरोश, दिल्लगी (1999), जुबैदा (2001), तुम सा नहीं देखा (2004) Dev.D (2009), हमको दीवाना कर गए (2006) और बधाई हो (2018) जैसी बहुत सारी फिल्मों में नज़र आईं । वहीं टीवी सीरियल बालिका वधू के अलावा वह परदेस में है मेरा दिल, सीआईडी, सात फेरे, बनेगी अपनी बात जैसे कई धारावाहिकों में अपने दादी के किरदार से लोकप्रिय हुईं ।