दीवाली के दौरान सिनेमाघरों में रिलीज हुई मनोज बाजपेयी, दिलजीत दोसांझ और फ़ातिमा सना शेख अभिनीत फ़िल्म सूरज पे मंगल भारी की मुंबई पुलिस के लिए स्पेशल स्क्रीनिंग करवाई गई । अभिषेक शर्मा द्दारा निर्देशित सूरज पे मंगल भारी की 18 नवंबर को जुहू के पीवीआर में स्पेशल स्क्रीनिंग आयोजित की गई । कोरोना संकटकाल में लगातार अपनी ड्यूटी निभा रही पुलिस के लिए इस फ़िल्म को तनाव कम करने या थकान दूर करने के लिए दिखाया गया । फ़िल्म के लीड एक्टर मनोज बाजपेयी और दिलजीत दोसांझ मेकर्स के इस जेस्चर से बहुत प्रभावित हुए ।

कोरोना वॉरियर्स को ही असली हीरो मानते हैं मनोज बाजपेयी और दिलजीत दोसांझ, बोले- ‘हम तो नकली हैं’

मनोज बाजपेयी और दिलजीत दोसांझ की फ़िल्म सूरज पे मंगल भारी

इस बारें में मनोज और दिलजीत ने कहा कि कोरोना यौद्धाओं के बीच खुशी फ़ैलाना बहुत मायने रखता है । मनोज ने कहा, “यह सौभाग्य की बात है कि उनकी फ़िल्म ऐसे लोगों को स्पेशल रूप से दिखाई गई जो इस कठिन समय में यौद्धा की तरह डटे हैं । वे सभी हमारे हीरो हैं और हमारी सोसायटी से प्यार और केयर डिजर्व करते हैं ।”

इस बारें में दिलजीत ने कहा, “असली हीरो तो वही है । हम तो नकली हैं । वे सभी फ़्रंटलाइन यौद्धा हैं । जब हम सभी आराम से घर पर बैठे थे उस दौरान से लेकर आज तक वे लगातार कोरोना महामारी से लड़ रहे थे । यदि हम उनके चेहरे पर मुस्कान ला सकते हैं तो इसे हम अपना सौभाग्य समझते हैं ।”

इतना ही नहीं दिलजीत तो कोरोना वॉरियर्स को भी अपनी और फ़िल्मों को स्पेशल रूप से दिखाना चाहते हैं । “यह मेरा सौभाग्य है कि मेरी अधिकांश फिल्में फील-गुड कॉमेडी हैं । मैं इस कठिन समय में गंभीर और गहन फ़िल्में करने के बजाए कॉमेडी फ़िल्मों से लोगों को खुश करना चाहूंगा ।

शारिक पटेल, सीईओ ज़ी स्टूडियोज (फिल्म के सह-निर्माता) कहते हैं, “इस स्क्रीनिंग को आयोजित करने में मदद करना हमारा सौभाग्य था । इस कठिन समय में खतरनाक वायरस से जूझते लोगों को कुछ घंटों के लिए अपनी फ़ैमिली कॉमेडी फ़िल्म से मनोरंजित करना, हमारे लिए सबसे बड़ी खुशी है ।”