कोरोना संक्रमण को फ़ैलने से बचाने के लिए लगाए गए लॉकडाउन को अब तकरीबन दो महीने का समय हो गया है । इन दो महीनों में बॉलीवुड की रफ़्तार भी थम सी गई है । फ़िल्मों की रिलीज से लेकर टीवी शोज और फ़िल्मों की शूटिंग रुकी हुई है जिससे मनोरंजन जगत को भारी नुकसान हो रहा है । लॉकडाउन के कारण हो रही इस आर्थिक नुकसान के लिए फ़िल्म फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिनेमा एमप्लॉइज ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक पत्र के जरिए अपनी परेशानी बताई जिसमें उन्होंने कम से कम पोस्ट प्रोडक्शन वर्क को शुरू करने की अनुमति देने की गुहार लगाई । इसके बाद आज महाराष्ट्र मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सिनेमा जगत के लोगों से वीडियो कॉंफ़्रेसिंग के जरिए बात की ।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मनोरंजन जगत से कहा कि फ़िर से काम शुरू करना है तो पहले कोरोना के खिलाफ़ एक्शन प्लान तैयार करें

उद्धव ठाकरे ने कहा कि फिजिकल डिस्टेंसिंग और जरूरी उपाय का पालन हो

इस वीडियो कॉन्फ्रेंस में मराठी सिनेमा जगत, थिएटर और टेलीविजन से जुड़े तमाम लोगों ने उद्धव ठाकरे से बातचीत की । वीडियो कॉन्फ्रेंस में मनोरंजन जगत से जुड़े लोगों की समस्याओं को मुख्यमंत्री ने सुना और अपनी तरफ से उन्हें भरोसा दिलाया कि उनके लिए हर तरह की सहूलियत की जाएगी । शूटिंग शुरू करने के विषय उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर फिल्मों की शूटिंग और पोस्ट प्रोडक्शन से जुड़ी गतिविधियों में फिजिकल डिस्टेंसिंग और जरूरी उपाय का पालन करते हुए, काम शुरू करने की कोई रणनीति सामने रखी गई तो राज्य सरकार इस पर विचार करेगी ।

मुख्यमंत्री ने साफ किया है कि राज्य सरकार टेक्निशियंस, बैकग्राउंड बैकस्टेज कलाकारों, लोक कलाकारों और तमाशा कलाकारों के संग मुसीबत की घड़ी में खड़ी है । पिछले कई दिनों से काम ना होने के कारण हुए आर्थिक क्षति को लेकर सीएम ने यह भी कहा कि फिल्म सिटी में जो बड़े सेट बनाए गए हैं उनके किराए में छूट देने के विषय में भी विचार किया जाएगा ।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बेहाल पड़ी एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में जान फूंकने का काम किया है । उन्होंने संकेत दिए हैं कि जल्द शोज और फिल्मों की शूटिंग शुरू की जा सकती है ।