फ़िल्मों में अपनी एक्टिंग के अलावा बेबाक बनायों के लिए जानी जाने वाली अभिनेत्री कंगना रनौत एक बार फ़िर अपने बयान के कारण मुश्किल में फ़ंस गई है । हाल में केंद्र सरकार की ओर से तीनों कृषि कानून वापस लेने के बाद कंगना ने सोशल मीडिया पर सिख समुदाय के खिलाफ कथित रूप से अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया था, जिसके बाद भड़के सिख समाज के लोगों ने मंगलवार को कंगना रनौत के खिलाफ मुंबई में एफआईआर दर्ज कराई थी, जिसके बाद अब बुधवार को कंगना ने एफआईआर पर अपना रिएक्शन देते हुए इंस्टाग्राम पर एक फोटो शेयर की है ।

आपत्तिजनक बयान पर हुई FIR पर कंगना रनौत ने अपने बोल्ड फ़ोटो के साथ दिया बोल्ड रिएक्शन

कंगना रनौत को मिला समन

दरअसल, केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा के बाद नाराज कंगना ने किसान आंदोलन की तुलना खालिस्तानी आंदोलन से कर दी थी, जिसके बाद देश के कई हिस्सों में उनके खिलाफ कई एफआईआर दर्ज कराई गई है। मंगलवार को सिख समुदाय ने कंगना के खिलाफ मुंबई में एफआईआर दर्ज कराई थी, अब कंगना अपने इंस्टाग्राम स्टोरी पर एक फोटो शेयर करते हुए बताया कि आज भी एक एफआईआर दर्ज हुई है। हालांकि उनके इस इंस्टा स्टोरी से साफ दिख रहा है कि उन पर इसका बिल्कुल भी असर नहीं है । कंगना की ये तस्वीर 2014 के फ़ोटोशूट की है जिसमें उनके हाथ में ड्रिंक का गिलास है और वो बेहद बोल्ड पोज देती हुईं नजर आ रही हैं। तस्वीर को अपनी इंस्टाग्राम स्टोरीज पर शेयर करते हुए एक्ट्रेस ने लिखा, 'एक और दिन, एक और एफआईआर। बस अगर वे मुझे गिरफ्तार करने आते हैं... मेरा मूड घर पर ऐसा ही है।

6 दिसंबर को पेश होना है

बता दें कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम पर सिख समुदाय के खिलाफ कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में कंगना को समन जारी हुआ है । दिल्ली विधानसभा की शांति और सद्भाव समिति (Delhi Assembly panel) ने कंगना को ये समन जारी किया है । 6 दिसंबर दोपहर 12 बजे तक समिति के सामने कंगना को पेश होने के लिए कहा गया है ।

समिति द्वारा जारी बयान के अनुसार, कंगना के खिलाफ यह शिकायत मंदिर मार्ग थाने के साइबर प्रकोष्ठ में दर्ज करायी गई है । समिति का कहना है कि सोशल मीडिया पर हाल में किए गए अपने पोस्ट में कंगना ने जानबूझकर किसानों के प्रदर्शन को ‘खालिस्तानी आंदोलन' बताया है । बयान में कहा गया है कि अभिनेत्री ने सिख समुदाय के खिलाफ ‘‘आपत्तिजनक और अपमानजनक” भाषा का उपयोग किया । दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति केबयान के अनुसार, ‘‘सिख समुदाय की भावनाओं को आहत करने के लिए जानबूझकर वह पोस्ट तैयार किया गया और आपराधिक मंशा से उसे साझा किया गया ।”

इससे पहले भी देश के आजादी को लेकर अपने बयान के कारण विवादों में आईं कंगना पर राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी के खिलाफ भी आपत्तिजनक टिप्‍पणी करने का आरोप लग चुका है । कंगना ने दावा किया था कि सुभाषचंद्र बोस और भगत सिंह को महात्‍मा गांधी से समर्थन नहीं मिला । यहीं नहीं, कंगना ने बापू के 'अहिंसा के मंत्र' का भी मजाक बनाते हुए कहा कि एक और गाल आगे करने से आपको 'भीख' मिलती है आजादी नहीं ।