रंगीला, दौड़, निशब्द और नाच जैसी कई फ़िल्में बना चुके फ़िल्ममेकर राम गोपाल वर्मा की फ़िल्मों में हॉटनैस फ़िल्म की हाईलाइट होती है । राम गोपाल वर्मा हॉटनैस से भरी एक और फ़िल्म लेकर आ रहे हैं जिसका नाम है लड़की: एंटर द गर्ल ड्रैगन । ये पहली भारतीय मार्शल आर्ट फ़िल्म हैं जो इंडो-चाइनीज को-प्रोडक्शन में बनी हुई हैं । इसलिए लड़की: एंटर द गर्ल ड्रैगन भारत में रिलीज होने के साथ-साथ चीन में भी 15 जुलाई को ही रिलीज होगी । राम गोपाल वर्मा की लड़की में पूजा भालेकर ने लीड रोल निभाया है । फ़िल्म के ट्रेलर और पोस्टर ने पहले लोगों का ध्यान अपनी ओर खींच लिया है ।

राम गोपाल वर्मा की लड़की को 'ए' सर्टिफ़िकेट देकर सीबीएफसी ने अश्लील और आपत्तिजनक अपशब्द, क्लोज अप क्लीवेज, बट शॉट्स और इन डायलॉग्स को हटाया

राम गोपाल वर्मा की लड़की

फ़िल्म अपनी रिलीज के बेहद नजदीक है और इससे पहले मेकर्स ने सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सीबीएफसी) से फ़िल्म की रिलीज के लिए प्रमाण पत्र भी पा लिया है । हालांकि सीबीएफ़सी ने लड़की के मेकर्स को फिल्म के कई डायलॉग्स और सीन काटने को कहा है । कट लिस्ट के मुताबिक 'साली' और 'c*****a' जैसे अपशब्दों को चार जगहों पर म्यूट कर दिया गया । क्लीवेज, बट और पेल्विस के 12 क्लोज-अप शॉट्स को हटाने के लिए कहा गया और उनकी जगह पर अनआपत्तिजनक शॉट लगाए गए । इसके अलावा अन्य 'अश्लील' सीन्स को हटाने के लिए कहा गया है, जिसमें नायक के कूदने और नायक के शरीर के अंगों को घूरने और अपनी जीभ बाहर निकालने के दृश्य हैं । सीबीएफसी ने उस दृश्य के 50% दृश्यों को हटाने के लिए भी कहा जहां खलनायक नायक के कपड़े फाड़ देता है ।

आपत्तिजनक डायलॉग्स हटाए

सीबीएफसी ने कुछ डायलॉग्स को भी हटाने के लिए भी कहा है । उनमें शामिल हैं_ 'क्या लेग पीस है', 'यहीं की यहीं बलात्कार कर दूंगा', 'पिछले सप्ताह मैंने अपनी बीवी को बेच दिया', 'मैं औरतों को एक ऑब्जेक्ट", मुझपे उचलना...''मारने से पहले, मैं उसका स्वाद लेना चाहता हूं', 'सब कुछ करुंगा', 'तू और बाकी लोग उसके साथ सब कुछ कर लेना' और 'स्वाद खराब हो जाएगा' जैसे आपत्तिजनक डायलॉग्स को भी हटाने को कहा गया है ।

ऑडियो कट की बात करते हुए, सीबीएफसी ने निर्माताओं को सभी संस्कृत श्लोकों को हटाने का निर्देश दिया, जिसमें कहा गया था कि 'उनका उपयोग अनुचित संदर्भ और प्रस्तुति में किया गया था, जो कि धार्मिक भावनाओं से जुड़ा हुआ है । अंत में, अल्कोहल लेबल के नाम धुंधले कर दिए गए ।

लड़की का रन टाइम 129 मिनट, यानी 2 घंटे 9 मिनट है

इन कटों को किए जाने के बाद, सीबीएफसी ने 22 सितंबर, 2021 को लड़की को 'ए' प्रमाणपत्र प्रदान किया । 29 मई को, लड़की के निर्माता सीबीएफसी में वापस गए जहां उन्होंने अपनी फ़िल्म से दो गानों को हटाया जिसके कारण फ़िल्म की लंबाई कम हो गई । अब लड़की का रन टाइम 129 मिनट, यानी 2 घंटे 9 मिनट है।

सीबीएफसी द्वारा उनकी फिल्मों में कटौती या बदलाव किए जाने पर अक्सर, कई फिल्म निर्माता नाराजगी जताते हैं । लेकिन राम गोपाल वर्मा इन सबसे अलग हैं और उन्होंने क्लीयर किया कि उन्हें इन कटों से कोई आपत्ति नहीं है। उन्होंने कहा, “एक फिल्म में एक हजार से ज्यादा शॉट होते हैं। अगर उनमें से कुछ काटे जाते हैं, तो यह ठीक है और मुझे कोई समस्या नहीं है।”