सुशांत सिंह राजपूत केस में ड्रग्स मामले की जांच कर रही नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो यानी एनसीबी ने ड्रग्स मामले में रिया चक्रवर्ती को मिली जमानत के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी । बॉम्बे हाईकोर्ट ने इस केस में रिया चक्रवर्ती को जमानत दी थी जिसके खिलाफ नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो सुप्रीम कोर्ट पहुंचा और आज इस याचिका पर सुनवाई हुई जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने फ़िलहाल रिया चक्रवर्ती को राहत दे दी है । और अब रिया चक्रवर्ती को जमानत देने के आदेश के खिलाफ दाखिल याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 22 मार्च को सुनवाई करेगा ।

ड्रग्स मामले में मिली जमानत के खिलाफ़ NCB की याचिका पर रिया चक्रवर्ती को सुप्रीम कोर्ट से मिली राहत, 22 मार्च को होगी अगली सुनवाई

रिया चक्रवर्ती को मिली राहत

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि याचिका सही तरीके से दाखिल नहीं की गई है । नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो उसमें सुधार करे । सुप्रीम कोर्ट जजों को आपत्ति इस बात पर थी कि एनसीबी ने जमानत को सीधे चुनौती दिए बिना हाई कोर्ट की तरफ से कही गई दूसरी बातों को चुनौती दी है । इसी के साथ सुप्रीम कोर्ट ने एनडीपीएस एक्ट पर भी कई टिप्पणियां की हैं ।

बता दें कि बॉम्बे हाई कोर्ट ने सुशांत केस से जुड़े ड्रग्स मामले में रिया को जमानत पर इन टिप्पणियों के आधार पर जमानत दिलवाई थी कि सिर्फ गांजा खरीदने के लिए किसी को पैसे देना और गांजा मिलने के बाद उसे जांच एजेंसी से छुपा लेना ड्रग्स का व्यापार करने की श्रेणी में नहीं आता है । इसलिए, रिया पर एनडीपीएस एक्ट की धारा 27 ए का मामला नहीं बनता । बॉम्बे हाई कोर्ट की इन्हीं टिप्पणियों के खिलाफ़ एनसीबी सुप्रीम कोर्ट पहुंचा । एनसीबी के मुताबि हाई कोर्ट ने आरोपी को जमानत देते वक्त जो तर्क दिए हैं, उनसे एनडीपीएस एक्ट से जुड़े सभी मुकदमों पर असर पड़ेगा ।

बता दें कि एनसीबी ने इस केस में जांच करते हुए स्पेशल एनडीपीएस कोर्ट में अपनी चार्जशीट दाखिल की है । इस चार्जशीट में रिया सहित 33 लोगों को कथितरूप से आरोपी बनाया गया है । इस चार्जशीट में रिया पर एनडीपीएस ऐक्ट की धारा 27ए के तहत आरोप लगाए गए हैं ।