5जी नेटवर्क लागू करने के विरोध में अपनी बात रख रही अभिनेत्री जूही चावला ने एक बार फिर दिल्‍ली हाईकोर्ट में अर्जी दायर की है । इस याचिका में जूही चावला सहित अन्य लोगों ने दिल्ली हाईकोर्ट में एकल जज पीठ के पिछले फैसले को चुनौती दी है । जूही चावला की अपील पर सुनवाई के लिए कोर्ट ने गुरुवार को 25 जनवरी की तारीख तय की है । कहा कि मामले पर तत्काल सुनवाई की कोई जरूरत नहीं है ।

5G नेटवर्क को लेकर जूही चावला की याचिका पर 25 जनवरी को होगी अगली सुनवाई, कोर्ट ने कहा- ‘तत्काल सुनवाई की कोई जरूरत नहीं’

जूही चावला पहुंची हाई कोर्ट

बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट की एकल पीठ ने जून में 5जी सेवा के खिलाफ जूही चावला की याचिका खारिज कर दी थी । इसके बाद जूही ने एकल न्यायाधीश के फैसले को इस अपील में चुनौती दी । जूही के वकील सलमान खुर्शीद ने कहा कि यह एक दुर्भाग्यपूर्ण मामला है । उन्होंने कोर्ट से सुनवाई की तारीख जल्दी देने का आग्रह किया । कोर्ट ने जून में, चावला और दो अन्य लोगों द्वारा 5जी लाने के खिलाफ दायर मुकदमे को दोषपूर्ण, कानून की प्रक्रिया का दुरुपयोग बताया था और कहा था कि इसे प्रचार हासिल करने के लिए दायर किया गया था ।

बता दें कि जून महीने में अभिनेत्री जूही ने देश में 5जी टेस्टिंग के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करते हुए इसके खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी । जूही चावला ने दिल्ली हाई कोर्ट में 5जी मोबाइल नेटवर्क के खिलाफ याचिका दायर करते हुए कहा था कि इससे होने वाले रेडिएशन से इंसानों और जानवरों की जान को खतरा है । इसलिए इस पर रोक लगानी चाहिए । दायर की गई याचिका में कहा गया था कि 5जी वायरलेस तकनीकी योजनाओं से मनुष्यों पर गंभीर, अपरिवर्तनीय प्रभाव और पृथ्वी के सभी इकोसिस्टम को स्थायी नुकसान पहुंचने का खतरा है । अगर दूरसंचार उद्योग की 5जी संबंधी योजनाएं पूरी होती हैं तो पृथ्वी पर कोई भी व्यक्ति, कोई जानवर, कोई पक्षी, कोई कीट और कोई भी पौधा इसके प्रतिकूल प्रभाव से नहीं बच सकेगा ।

जूही की इस याचिका को कोर्ट ने खारिज करते हुए ‘पब्लिसिटी स्टंट’ बताया था और जूही सहित 2 अन्य लोगों पर 20 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था ।