बॉलीवुड में #MeToo की आंधी इतनी तेज चल पड़ी है कि जिसमें बड़े-बड़े दिग्गज चपेट में आ गए है । इतना ही नहीं #MeToo मूवमेंट के तहत अब इतनी जागरूकता फ़ैल गई है कि हर कोई इसको लेकर काफ़ी सजग हो गया है । और इसके चलते बॉलीवुड के मिस्टर परफ़ेक्शनिस्ट आमिर खान ने एक बड़ा फ़ैसला किया है । आमिर खान ने बॉलीवुड में #Metoo कैंपेन के तहत सामने आ रहे यौन उत्पीड़न के मामलों में कड़ा रुख अपनाया है । आमिर खान ने खुद को एक ऐसी फ़िल्म से अलग कर लिया है जिस पर यौन उत्पीडन का आरोप लगाया जा चुका है ।

#MeToo के सपोर्ट में आमिर खान ने यौन आरोपों से घिरे निर्देशक के साथ काम करने से किया इंकार

आमिर खान ने यौन आरोपों से घिरे निर्देशक की फ़िल्म से खुद को किया अलग

आमिर ने बुधवार की रात ट्विटर पर एक स्टेटमेंट जारी करते हुए लिखा कि हाल ही में किसी ने इस बात पर उनका ध्यान‌ दिलाया कि वो अपनी अगली फिल्म में जिस शख्स के साथ काम करने जा रहे हैं, उसपर यौन शोषण के आरोप लगे हैं । आमिर का कहना है कि पता करने पर उन्हें ये मालूम पड़ा कि ये मामला फिलहाल कानून के अधीन है, लेकिन वो इस मामले में शामिल किसी भी शख्स को जज किये बगैर खुद को इस फिल्म से अलग कर रहे हैं ।

आमिर ने बुधवार को इस बारें में ऑफ़िशियल ऐलान किया और यौन शोषण खिलाफ जीरो टॉलरेंस की बात कही । आमिर ने ट्विटर पर अपने लंबे-चौड़े पोस्ट में लिखा, ''क्रिएटिव लोग होने के नाते हम सामाजिक मुद्दों के हल निकालने और प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, और आमिर ख़ान प्रोडक्शंस में हमेशा से हम यौन दुराचार और महिलाओं के प्रति हिंसक रवैये के प्रति ज़ीरो टॉलरेंस पॉलिसी अपनाते आये हैं ।

हम किसी भी तरह के यौन उत्पीड़न की भर्त्सना करते हैं और समान रूप ऐसे मामलों में झूठे आरोपों की भी निंदा करते हैं । दो हफ़्ते पहले, जब यातनाप्रद Me Too कहानियां आनी शुरू हुईं, तो यह हमारे संज्ञान में लाया गया कि जिस शख़्स के साथ हम काम शुरू करने वाले थे, उस पर यौन दुराचार के आरोप लगे हैं । पता करने पर, हमें मालूम हुआ कि यह केस अदालत में विचाराधीन है और क़ानूनी कार्रवाई चल रही है ।

हम कोई जांच एजेंसी नहीं हैं, और ना ही हम इस स्थिति में हैं कि किसी को लेकर कोई फ़ैसला करें । यह काम पुलिस और क़ानून का है। इसलिए किसी को लेकर कोई पूर्वाग्रह बनाए बिना और इन आरोपों को लेकर किसी निष्कर्ष पर पहुंचे बिना हमने इस फ़िल्म से अलग होने का फ़ैसला किया है । नोट में आगे लिखा गया है कि हम मानते हैं कि फ़िल्म इंडस्ट्री के लिए यह आत्मावलोकन का मौक़ा है, ताकि बदलाव की तरफ़ ठोस क़दम उठाये जा सकें लंबे समय से औरतों यौन शोषण का शिकार होती रही हैं। फ़िल्म इंडस्ट्री को सभी के लिए सुरक्षित और ख़ुशनुमा जगह बनाने के लिए हम सब कुछ करने के लिए प्रतिबद्ध हैं ।''

सुभाष कपूर पर लग चुके हैं यौन आरोप

बता दें कि आमिर जल्द ही गुलशन कुमार की बायोपिक, मोगुल में फ़िल्ममेकर सुभाष कपूर के साथ काम करने वाले थे । गुलशन कुमार की इस बायोपिक फिल्म से आमिर बतौर प्रोड्यूसर जुड़े हुए थे । लेकिन इस फ़िल्म को निर्देशित करने वाले सुभाष कपूर पर साल 2014 में एक अभिनेत्री ने यौन शोषण का आरोप लगाया था ।

आमिर के ऐलान के बाद, निर्देशक सुभाष कपूर ने भी एक बयान जारी कर कहा कि,वह आमिर और किरण राव के फ़ैसले को समझते हैं और उसका सम्मान करते है । लेकिन इसी के साथ वह कहना चाहते हैं कि, उनका मामला अदालत में विचाराधीन है, उन्हें यकीन है कि वह इस मामले में अपनी बेगुहानी साबित करेंगे ।

यह भी पढ़ें : EXCLUSIVE: ॠतिक रोशन की सुपर 30 में अब नहीं दिखेगा विकास बहल का नाम

गौरतलब है कि, आमिर अपनी पत्नी किरण राव के साथ बुधवार की दोपहर को ही 'द प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया' के प्रेसिडेंट सिद्धार्थ रॉय कपूर और गिल्ड के अन्य सदस्यों से मिले थे और इस बात पर चर्चा की कि कैसे लड़कियों के लिए काम करने के लिहाज से इंडस्ट्री को और सुरक्षित बनाया जाये ।